उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत क्यों बढ़ रही है?

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत कई कारकों के कारण बढ़ रही है, जिनमें शामिल हैं:

  • बढ़ती आय और मुनाफा: उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अपनी आय और मुनाफे में क्रमशः 32% और 60% की वृद्धि दर्ज की। यह वृद्धि बैंक के मजबूत प्रदर्शन और बढ़ती मांग के कारण हुई है।
  • अच्छी संपत्ति गुणवत्ता: उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक की संपत्ति गुणवत्ता भी मजबूत है। बैंक की सकल गैर-निष्पादित (एनपीए) आस्तियां जून 2023 तक 2.62% पर आ गई हैं, जो पिछले साल की समान अवधि में 6.51% थी।
  • ब्रोकरेज हाउस की सकारात्मक राय: कई ब्रोकरेज हाउस ने उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयरों पर खरीद की सलाह दी है। इसका मतलब है कि वे निवेशकों को शेयर खरीदने की सलाह दे रहे हैं क्योंकि वे बैंक के भविष्य के प्रदर्शन में विश्वास करते हैं।

इन कारकों के कारण, उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत पिछले कुछ महीनों में तेजी से बढ़ी है। 2023 में, शेयर की कीमत 2022 के अंत में लगभग 20 रुपये से बढ़कर अब 45 रुपये तक पहुंच गई है।

भविष्य के लिए, उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत में और बढ़ने की संभावना है। बैंक का प्रदर्शन मजबूत बना हुआ है और मांग बढ़ रही है। इसके अलावा, ब्रोकरेज हाउस की सकारात्मक राय भी शेयर की कीमत को बढ़ावा दे सकती है।

हालांकि, निवेशकों को यह ध्यान रखना चाहिए कि कोई भी निवेश जोखिम भरा होता है। उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर में निवेश करने से पहले, निवेशकों को अपने वित्तीय लक्ष्यों और जोखिम सहनशीलता को ध्यान में रखना चाहिए।

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत में हालिया वृद्धि के लिए निम्नलिखित अतिरिक्त कारकों को भी जिम्मेदार ठहराया जा सकता है:

  • भारतीय अर्थव्यवस्था में सुधार: भारत की अर्थव्यवस्था 2023 में मजबूत वृद्धि दर दिखा रही है। इस वृद्धि से बैंकिंग क्षेत्र को लाभ होगा, क्योंकि यह अर्थव्यवस्था में निवेश और खर्च को बढ़ावा देगा।
  • सरकार की नीतियों का समर्थन: भारत सरकार ने स्मॉल फाइनेंस बैंकों को बढ़ावा देने के लिए कई नीतियों की घोषणा की है। इन नीतियों से स्मॉल फाइनेंस बैंकों को और अधिक पूंजी जुटाने और अपनी व्यवसाय गतिविधियों का विस्तार करने में मदद मिलेगी।
  • डिजिटलीकरण का बढ़ता प्रभाव: डिजिटलीकरण से स्मॉल फाइनेंस बैंकों को अपने ग्राहकों तक पहुंचने और अपनी सेवाओं को प्रदान करने में आसानी हो रही है। यह बैंकों को नए ग्राहकों को आकर्षित करने और मौजूदा ग्राहकों को बनाए रखने में मदद कर रहा है।

इन कारकों के कारण, उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर की कीमत में और बढ़ने की संभावना है। बैंक का प्रदर्शन मजबूत बना हुआ है और मांग बढ़ रही है। इसके अलावा, बैंक को भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार और सरकार की नीतियों के समर्थन से लाभ होने की संभावना है।

हालांकि, निवेशकों को यह ध्यान रखना चाहिए कि कोई भी निवेश जोखिम भरा होता है। उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर में निवेश करने से पहले, निवेशकों को अपने वित्तीय लक्ष्यों और जोखिम सहनशीलता को ध्यान में रखना चाहिए।

यहां कुछ अतिरिक्त जानकारी दी गई है जो इस सन्दर्भ में उपयोगी हो सकती है:

  • उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक भारत में सबसे बड़े स्मॉल फाइनेंस बैंकों में से एक है।
  • बैंक का मुख्य व्यवसाय सूक्ष्म वित्त है, जो छोटे व्यवसायों और कम आय वाले व्यक्तियों को ऋण प्रदान करता है।
  • बैंक ने 2022-23 की पहली तिमाही में 324 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया, जो पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 60% अधिक है।
  • बैंक की सकल गैर-निष्पादित आस्तियां जून 2023 तक 2.62% पर आ गई हैं, जो पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 6.51% थी।

इस जानकारी का उपयोग निवेशकों को उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के शेयर में निवेश करने के बारे में सूचित निर्णय लेने में मदद कर सकता है।

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के बीते 6 महीने के फाइनेंस रिपोर्ट

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 2023-24 की पहली छमाही के लिए अपनी वित्तीय रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार, बैंक ने इस अवधि के दौरान अपनी आय और मुनाफे में क्रमशः 32% और 60% की वृद्धि दर्ज की।

बैंक की कुल आय जून 2023 तक 4,163 करोड़ रुपये थी, जो पिछले साल की इसी अवधि में 3,156 करोड़ रुपये थी। बैंक का शुद्ध लाभ 324 करोड़ रुपये था, जो पिछले साल की इसी अवधि में 195 करोड़ रुपये था।

बैंक की कुल ऋण वितरण जून 2023 तक 28,734 करोड़ रुपये था, जो पिछले साल की इसी अवधि में 23,170 करोड़ रुपये था। बैंक की कुल जमा राशि जून 2023 तक 29,636 करोड़ रुपये थी, जो पिछले साल की इसी अवधि में 24,322 करोड़ रुपये थी।

बैंक की सकल गैर-निष्पादित आस्तियां (NPA) जून 2023 तक 2.62% थी, जो पिछले साल की इसी अवधि में 6.51% थी।

बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, अशोक पांडे ने कहा, “हमने वित्त वर्ष 2023-24 की पहली छमाही में मजबूत वित्तीय परिणाम दर्ज किए हैं। हमारी आय और मुनाफे में वृद्धि से पता चलता है कि हमारा व्यवसाय मजबूत और बढ़ रहा है।”

उन्होंने कहा, “हमने अपने ग्राहकों को उच्च गुणवत्ता वाली सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम वित्त वर्ष 2023-24 के लिए अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

यहां उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक की वित्तीय रिपोर्ट के कुछ प्रमुख बिंदु दिए गए हैं:

  • कुल आय: 4,163 करोड़ रुपये
  • शुद्ध लाभ: 324 करोड़ रुपये
  • कुल ऋण वितरण: 28,734 करोड़ रुपये
  • कुल जमा राशि: 29,636 करोड़ रुपये
  • सकल गैर-निष्पादित आस्तियां: 2.62%

 

ये भी पढ़ें:-SJVN शेयर प्राइस: आज का मूल्य, ऐतिहासिक प्रदर्शन और खरीदारी के लिए सुझाव

Leave a Comment